Monday, June 27, 2022
Homeनेशनलअफगानिस्तान में 6.1 तीव्रता का भूकंप, 250 से ज्यादा लोगों की मौत

अफगानिस्तान में 6.1 तीव्रता का भूकंप, 250 से ज्यादा लोगों की मौत

इंडिया न्यूज, Afghanistan News : अफगानिस्तान की धरा पर बुधवार की सुबह भूकंप के कारण बड़ा जानी नुकसान हो गया। बता दें कि यहां 6.1 तीव्रता का भूकंप आया जिस कारण कई लोगों को अपनी जिंदगी गवानी पड़ गई। आपदा प्रबंधन अधिकारियों का कहना है कि भूकंप के कारण यहां कम से कम 250 लोगों की मौत हो चुकी है और अभी और आंकड़े बढ़ने की उम्मीद है। इस भूकंप के कारण 150 लोग जख्मी भी हुए हैं।

भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के खोस्त शहर से 44 किलोमीटर दूर

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार भूकंप का केंद्र अफगानिस्तान के खोस्त शहर से करीब 44 किलोमीटर दूर था और 51 किलोमीटर की गहराई में था। ये भूकंप के झटके इतने तेज थे कि पड़ोसी देश पाकिस्तान के लाहौर, क्वेटा और मुल्तान में भी लोगों को झटके महसूस हुए। इसके अलावा भारत में भी कई स्थानों पर झटके महसूस किए गए हैं।

कल देर रात पाकिस्तान में भी आया था भूकंप

बता दें कि आज अफगानिस्तान में जहां भूकंप ने काफी नुकसान किया वहीं कल यानि मंगलवार देर रात पाकिस्तान में भी लोगों ने भूकंप के झटके महसूस किए गए। बता दें कि यहां अलसुबह 2.24 मिनट पर 6.1 तीव्रता का भूकंप आया। लेकिन यहां किसी के जान-माल के नुकसान की कोई खबर नहीं है। इसके अतिरिक्त मलेशिया में भी 5.1 तीव्रता के भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं।

आखिर कैसे आता है भूकंप?

विज्ञानिकों का कहना है कि पृथ्वी के अंदर प्लेटों के टकराने से भूकंप मुख्य कारण माना जाता है। धरती के भीतर सात प्लेट्स होती हैं जो लगातार घूमती रहती हैं। जब ये प्लेटें किसी कारण आपस में टकराती हैं, तो वहां फॉल्ट लाइन जोन बन जाता है और सतह के कोने मुड़ जाते हैं। जिसकी वजह से धरती में कंपन होती है, इसे ही भूकंप कहा जाता है।

जानें भूकंप की तीव्रता का असर

  • 2.0 को कम तीव्रता का भूकंप माना जाता है जिसमें अक्सर झटके महसूस नहीं किए जाते। अगर रिक्टर स्केल पर देखा जाए तो माइक्रो कैटेगरी के 8,000 भूकंप विश्वभर में रोजाना दर्ज किए जाते हैं।
  • इसी तरह 2.0 से 2.9 तीव्रता वाले भूकंप को माइनर कैटेगरी में रखा जाता है। इस तरह के 1,000 भूकंप प्रतिदिन आते हैं।
  • 3.0 से 3.9 तीव्रता वाले वेरी लाइट कैटेगरी के भूकंप होते हैं, इसमें भूकंप के झटके तो महसूस किए जाते हैं लेकिन इसमें कोई बड़ा नुकसान नहीं होता।
  • 4.0 से 4.9 तीव्रता वाले भूकंप के कारण घर के सामान हिलते नजर आते हैं। हालांकि इनसे न के बराबर ही नुकसान होता है।
  • वहीं अगर इससे अधिक यानि 5.0 तीव्रता का भूकंप आता है तो इससे बड़ा जान और माल का नुकसान होता है। आज भी अफगानिस्तान में 6.1 तीव्रता के भूकंप आने के कारण 250 से अधिक लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है।

यह भी पढ़ें : हरियाणा नगर निकाय चुनाव रिजल्ट : मतगणना जारी, जानिए अभी कौन कहां से जीता

Connect With Us : Twitter Facebook

SHARE
RELATED ARTICLES

Most Popular